Make Money Online

गौतम अडानी का जीवन परिचय (Gautam Adani Biography in Hindi) – Deepawali




गौतम अडानी का जीवन परिचय, कौन हैं, बायोग्राफी, इतिहास, कुल संपत्ति, नेटवर्थ, बिज़नेस, कास्ट, घर, कंपनी (Gautam Adani Biography in Hindi) (Business, Net Worth 2022, Family, House, Company)

जब भी हमारे देश में बिजनेस टायकून की बात होती है तो मुकेश अंबानी के अलावा एक और शख्स का नाम सामने आता है। वो है अडानी ग्रुप के फाउंडर गौतम अडानी। ये वही शख्स हैं जिन्होंने अपनी किस्मत को कोसने की बजाए मेहनत कर सफलता हासिल की। गौतम अडानी को इतना बड़ा व्यवसायिक साम्राज्य विरासत में नहीं मिला है, बल्कि ये उनकी कड़ी मेहनत का परिणाम है। आज भी बहुत कम लोगों को पता होगा की देश के सबसे अमीर व्यक्ति कहे जाने वाले गौतम अडानी कभी एक डायमंड कंपनी में मामूली पगार पर काम करते थे। लेकिन आज उनका कारोबार पूरी दुनिया में फैला हुआ है। आज हम आपको उनके जीवन के सफर के बारे में बताएंगे। किस तरह से गौतम अडानी बने बड़े बिजनेसमेन।

गौतम अडानी का जीवन परिचय (Gautam Adani Biography in Hindi)

नाम गौतम शांतिलाल अडानी
जन्म 24 जून 1962, अहमदाबाद (गुजरात)
माता-पिता का नाम शांतिलाल अडानी (पिता) और शांताबेन अडानी (माता)
शिक्षा कहां से की प्राप्त सेठ चिमनलाल नागिदास विधालय, गुजरात विश्वविघालय
जीवनसाथी प्रीति अडानी
बेटा जीत और करन अडानी
पेशा भारत के सफल उघोगपति
नेटवर्थ 6.63 लाख करोड़ रुपये
पुरस्कार पद्मा विभूषण (2008) और ओबीई (2009)
शिक्षा योग्यता वाणिज्य विषय
नागरिकता भारतीय

गौतम अडानी कौन हैं (Gautam Adani Biography in Hindi)

गौतम अडानी भारत के जाने माने अडानी एंटरप्राइज लिमिटेड के संस्थापक और अडानी ग्रुप के फाउंडर हैं। ऐसा कहा जाता है कि, ये हमेशा मुकेश अंबानी को टक्कर देते हुए दिखाई देते हैं। अमूमन भारत के बिजनेस घरानों को खड़ा करने के लिए ना जाने कितनी पीढ़ियां गुजर जाती हैं। जब जाकर एक बिजनेस अंपायर खड़ा होता है। ऐसा ही मुकाम हासिल किया है गौतम अडानी ने ताकि उनके आने वाली पीढ़ि आसानी से जीवन गुजार सके। आपको बता दें की ये भारत में कोल माइनिंग, एक्सपोर्ट, इलेक्ट्रिसिटी और ग्रीन एनर्जी, गैस और पेट्रोलियम आदि के व्यवसाय संभालते हैं।

गौतम अडानी का जन्म, परिवार, पत्नी, बच्चे (Gautam Adani Birth, Family, Wife, Son)

गौतम अडानी का जन्म अहमदाबाद के रतनपोल स्थित मध्यमवर्गीय जैन परिवार में 24 जून 1962 में हुआ। इनके पिता का नाम शांतिलाल अडानी है, जो एक कपड़ा व्यापारी थे। इनकी मां का नाम शांताबेन। ये सात भाई-बहन हैं। गौतम अडानी जिनकी पत्नी का नाम है प्रीति अडानी। वो पेशे से डेंटिस्ट है लेकिन इस समय पर अडानी फाउंडेशन के चेयरपर्सन का कार्यभार संभाल रही हैं। उनकी पत्नी के नेतृत्व में अडानी फाउंडेशन शिक्षा, स्वास्थ्य, आजीविका, ग्रामीण विकास जैसे काम देखे जा रहे हैं। वो कई संगठनों के साथ मिलकर भी काम कर रही हैं। वहीं गौतम अडानी के दोनों बेटे करण और जीत अडानी अभी अपनी पढ़ाई कर रहे हैं।

गौतम अडानी की शिक्षा (Gautam Adani Education)

आप सोच रहे होंगे कि, इतने बड़े बिजनेसमेन हैं तो इनकी शिक्षा भी अच्छे स्कूल-कॉलेज से हुई होगी। लेकिन ऐसा नहीं है, गौतम अडानी की शुरूआती शिक्षा सेठ चिमनलाल नागिदास स्कूल से हुई। इसके बाद उन्होंने गुजरात यूनिवसिर्टी से कोमर्स में ग्रेजुएशन की पढ़ाई शुरू की। लेकिन किसी कारण वो ग्रेजुएशन पूरी नहीं कर पाए और बीच में पढ़ाई छोड़ दी। इसके बाद वो अपने परिवार की आर्थिक स्थिति ठीक करने के लिए मुंबई आए। जब वो मुंबई पहुंचे तो उनकी जेब में केवल 100 रूपये ही थे।

गौतम अडानी के करियर की शुरूआत (Gautam Adani Career Starting)

  • साल 1980 में आर्थिक स्थिति ठीक ना होने के कारण गौतम अडानी का परिवार थराद जा बसा।
  • गौतम अडानी की इंग्लिश काफी खराब थी, लेकिन उनके दोस्त मलय की इंग्लिश में पकड़ काफी अच्छी थी। आगे चलकर दोनों बिजनेस पार्टनर बने। इसके बाद ही शुरू हुआ गौतम अडानी का फर्श से अर्थ का सफर।
  • बिजनेस में रूचि रखने वाले गौतम अडानी अपनी पढ़ाई बीच में छोड़कर 1978 में मुंबई आ पहुंचे। जहां उन्होंने महिंद्रा ब्रदर्स की मुंबई वाली शाखा में नौकरी की। हालांकि गौतम अडानी काफी समझदार और मेहनती थे। इसलिए उन्होंने काम करते-करते व्यापार के सारे नियम और बाजर के बदलते ट्रेंड के बारे में जानकारी अच्छे से लेनी शुरू कर दी। व्यापार की अच्छी समझ होने के बाद उन्होंने वहां से नौकरी छोड़ दी और आभूषणों के सबसे बड़े जावेरी बाजार में अपना खुद का डायमंड ब्रोकरेज खोल लिया।
  • इम्पोर्ट एक्सपोर्ट के बिजनेस में अडानी से साल 1981 में अपना सिक्का अजमाया। जहां वो कामयाब रहे। ऐसा कहा जाता है कि, इसमें उनके बड़े भाई मनसुखभाई अडानी ने अहमदाबाद में एक पीवीसी यूनिट खोली थी और उसको मैनेज करने के लिए इन्हें बुलाया था। तबसे ही उन्होंने इसमें भी अपना पैर पक्का कर लिया।

गौतम अडानी का बिज़नेस एवं कंपनियाँ (Gautam Adani Business and Companies)

  • साल 1985 में उन्होंने छोटे स्तर पर पोलिमय का आयात शुरू किया। जिसके बाद उन्होंने 1988 में अदानी एक्सपोर्ट की नींव रखी जो आज पूरी दुनिया में अडानी एंटरप्राइजेज के नाम से जानी जाती है। ये भारत की सबसे बड़ी एक्सपोर्ट कंपनी है। जो एग्रीकलर और इलेक्रिट्रसिटी के क्षेत्र में काम करती है।
  • साल 1991 ग्लोबलाइजेशन का दौर गौतम अडानी के लिए सुनहरा अवसर साबित हुआ। जिसमें उन्होंने मेटल्स, टेक्सटाइल और एग्रीकलचर प्रोड्क्ट की शुरूआत अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर करनी शुरू की। साल 1994 में गुजरात सरकार ने मुंद्रा पोर्ट के मैनेजमेंट को प्राइवेट कंपनियों के लिए खोला तो इस अवसर को भी गौतम अडानी ने लपक लिया।
  • साल 1995 में उन्होंने अडानी पोर्ट्स एंड एसईजेड खोली। जो आज के समय में देश की सबसे बड़ी प्राइवेट मल्टी पोर्ट ओपरेटर कंपनी में से एक है। 210 मिलियन टन कार्गो संभालने वाले मुंद्रा पोर्ट का पूरा जिम्मा आज भी उनके पास है।
  • इसके बाद उन्होंने 1996 अडानी पॉवर कंपनी की शुरूआत की इसके साथ ही उन्होंने एक नई फीलड में कदम रखा वो है एनर्जी सैक्टर। जिसके बाद आज वो देश की सबसे बड़ा प्राइवेट थर्मल पॉवर प्लांट चला रहे हैं जिसकी क्षमता 4620 मेगावाट है।
  • साल 2006 से 2012 में उन्होंने बिजली उत्पादन के क्षेत्र को देश के बाद अन्य देशों में विस्तृत किया।
  • साल 2020 में गौतम अडानी ने सोलर एनर्जी और ग्रीन एनर्जी सेक्टर में एक नई शुरूआत की। मई में सौर ऊर्जा निगम द्वारा आयोजित नीलामी में उन्होंने करीबन 6 मिलियन यूएस डॉलर लगाए और इस प्रोजेक्ट को हासिल किया। इसी के साथ उन्होंने ग्रीन एनर्जी के फीलड में 8000 मेगावाट की फोटोवोल्टिक बिजली प्रोजेक्ट की शुरूआत की।
  • साल 2021 में अडानी ने मुंबई अंतर्राष्ट्रीय हवाई अड्डे की 74 प्रतिशत हिस्सेदारी भी अपने नाम की। जिसके बाद वो मुकेश अंबानी को पीछे छोड़ देश के सबसे अमीर व्यक्ति बन गए।
  • साल 2022 में भी वो मुकेश अंबानी को पीछे छोड़ देश के सबसे अमीर बिजनेसमेन के पायेदान पर बरकरार हैं।

गौतम अडानी की कुल संपत्ति (Gautam Adani Net Worth 2022)

  • साल 2021 के नवंबर की एक रिपोर्ट के मुताबिक गौतम अडानी एशिया के सबसे अमीर शख्स साबित हुए हैं। एक रिपोर्ट ने दावा किया है कि, रिलायंस इंडस्ट्री की 2 करोड़ की डील खत्म होने के बाद कंपनी के शेयर में गिरावट आई जिसके बाद अडानी ग्रुप पहले नंबर पर आ गया।
  • इससे पहले ब्लूमबर्ग बिलियनेयर इंडेक्स ने अडानी की नेटवर्थ 88.8 बिलियन अमेरिकी डॉलर है ये जानकारी सामने लाई गई थी। जो मुकेश अंबानी से महज 2.2 बिलियन डॉलर कम थी।
  • वेल्थ हुरुन इंडिया रिच लिस्ट 2021 के आकड़ों के हिसाब से गौतम अडानी की कुल संपत्ति 5 लाख 6 हजार करोड़ रुपये दर्ज की गई है। एक रिपोर्ट में इनकी दैनिक कमाई के बारे में जानकारी देते हुए कहा है कि, ये करीब 1002 करोड़ रूपये रोजाना है।
  • साल 2022 की शुरुआत की बात करें तो आज के समय में गौतम आदनी की कुल संपत्ति 9,010 करोड़ यूएसडी तक पहुँच चुकी है. और ये देश के सबसे अमीर बिजनेसमेन में मुकेश अंबानी को भी हरा चुके हैं.

गौतम अडानी का सामाजिक कार्य (Gautam Adani Social Work)

  • भारत के कई अरबपतियों की तरह गौतम अडानी भी सामाजिक कार्यों में हमेशा बढ़ चढ़कर हिस्सा लेते हैं। जिसके कारण सामाजिक कार्यों में इनकी चर्चा हमेशा बनी रहती है।
  • साल 1996 में उन्होंने अडानी फाउंडेशन खोला जिसके जरिए देश के कई हिस्सों में सामाजिक कार्य किए गए। आपको बता दें कि, इसका नेतृत्व प्रीति अडानी करती हैं।
  • कोरोना महामारी के दौरान अडानी फाउंडेशन ने देश को सबसे बड़ा सहयोग दिया। जिसके चलते उन्होंने पीएम केयर फंड में 100 करोड़, गुजरात सरकार को 5 करोड़ और महाराष्ट्र राहत कोष में 1 करोड़ का फंड दिया। ताकि उन लोगों की मदद की जा सके जो इस महामारी के कारण पूरी तरह से बेकार हो गए हैं।
  • कोरोना की दूसरी लहर में जब देश ऑक्सीजन की किल्लत से लड़ रहा था। तब अडानी ग्रुप एक मसीहा बनकर आया और उसने देश में लिक्विड ऑक्सीजन सरकार को दिलाकर इसके संकट से उबारा।
  • इसके साथ ही अडानी ग्रुप ने उन लोगों की भी काफी सहायता की जिनके पास इस महामारी में इलाज कराने के पैसे भी नहीं थे।
  • इनके फाउंडेशन के जरिए लोगों तक राशन और खाने की चीजें पहुंचाई गई। ताकि कोई भी भूखा ना रहे।

गौतम अडानी के सुविचार (Gautam Adani Quotes)

  • गौतम अडानी का हमेशा से ही कहना है कि, उन्हें राजनीति पसंद नहीं इसलिए वो राजनितिक पार्टियों से जुड़े हुए नहीं हैं लेकिन फिर भी राजनितिक पार्टियां उनकी दोस्त हैं।
  • उनका कहना है कि, या तो आप अंतर्मुखी होते हो या फिर बहिमुर्खी। अगर इस हिसाब से देखा जाए तो मैं अंतर्मुर्खी हूं, वो कहते हैं कि, वो सामाजिक व्यक्ति नहीं हैं क्योंकि उन्हें किसी भी पार्टी में जाना पसंद नहीं है।
  • उनका मानना है जो आपका जीवन का लक्ष्य है उसपर अटल रहो देखना एक दिन आप उसके शिखर पर अवसर दिखाई देगें।
  • उनका कहना है कि, मैं जो भी बात करता हूं सरल तरीके से करता हूं ताकि सामने वाले व्यक्ति को मेरी बातें समझ आए। कॉम्पिकेट तरीके से बात करने से कुछ भी समझ नहीं आता।
  • गौतम अडानी का कहना है कि, वो अपनी निवेश निति हमेशा राष्ट्र को हित में रखते हुए तय करते हैं। जिसमें कभी भी बदलाव नहीं होता।
  • उनका कहना है कि, अगर आप व्यापार करने के बारे में विचार कर रहे हैं तो इस बात को ध्यान में रखें कि, उसमें काफी जोखिम हो सकता है। इसलिए व्यापार करें लेकिन उससे कभी ना डरे।
  • इंफ्रास्ट्रक्चर का उद्देश्य देश की संपत्ति का निर्माण कराना है। जो राष्ट्र निर्माण का हिस्सा है।
  • उन्होंने कहा कि, मैंने अपनी पढ़ाई पूरी नहीं की लेकिन मुझे इतना समझा आ गया कि, मुझे अगर कुछ हासिल करना है तो मेहनत अब करनी होगी।

गौतम अडानी के विवाद और समस्याएं (Gautam Adani Controversy)

  • जब इंसान सफलता की सीढ़ि चढ़ता है को उसके सामने कई सारी कठिनाईयां आती हैं। जिसके कारण उसे कई विवादों और समस्याओं का सामना करना पड़ता है। इनमें से एक विवाद भारत में काफी चर्चा का विषय बना था। वो विवाद का कारण था प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से उनकी नजदीकियां। कुछ लोगों का मानना था कि, वो जो भी काम कर रहे हैं, उसमें प्रधानमंत्री मोदी उनका साथ दे रहे हैं।
  • म.प्रदेश में भी वो विवादों में फंसे हुए नजर आए। जिसका कारण बना उनका प्रोजेक्ट जो हीरे खदान से संबंधित है। जिसमें गौतम अडानी और अरबपति अनिल अग्रवाल के बीच जंग छिड़ी जिसमें उन्होंने 59 हजार करोड़ के डायमंड प्रोजेक्ट के लिए बिड लगाई।
  • गौतम अडानी का वैसे तो पूरी दुनिया में व्यापार फैला हुआ है। ऐसा ही एक और विवाद सामने आया जो है ऑस्ट्रेलिया के क्वींसलैंज कंपनी का है. जहां का 16.6 अरब डॉलर की लागत वाली कोयला का टेंडर पास किया गया। जिसके लिए उन्होंने ऑस्ट्रेलिया की गवर्मेंट से 1 अरब का लोन लिया। जिसके कारण वो प्रोजेक्ट विवादों में आया। ऑस्ट्रेलिया के पर्यायवरणवादियों का मानना था कि, अगर ये प्रोजेक्ट शुरू हुआ तो पर्यायवरण को काफी खतरा हो सकता है। ऐसे में इसे रोकना पड़ेगा। इसका विवाद आज भी चल रहा है। जिसके लिए गौतम अडानी सुर्खियों में छाए हुए हैं।

गौतम अडानी के पुरस्कार और उपलब्धियां (Gautam Adani Award and Achievement)

गौतम अडानी के समूह की कॉर्पोरेट सामाजिक कार्यों में सबसे आगे रहता है। ऐसे में अडानी फाउंडेशन को 2014 में तीसरे वार्षिक ग्रीनटेक सीएसआर अवॉर्ड से सम्मानित किया गया। जिसके बाद उन्होंने अपने फाउंडेशन के जरिए बहुत अच्छे काम किए।

FAQ

Q : गौतम अडानी किस चीज का बिजनेस करते हैं?

Ans : अडानी ग्रुप कोयला, पावर, लॉजिस्टिक्स, रियल एस्टेट, एग्रो प्रोडक्ट्स, ऑयल और गैस जैसी फील्ड में काम करता है।

Q : गौतम अडानी की कितने कंपनी हैं?

Ans : अडानी ग्रुप की इस समय तीन कंपनियां हैं। अडानी ग्रीन एनर्जी, अडानी टोटल और अडानी ट्रांसमिशन।

Q : गौतम अडानी की कुल संपत्ति कितनी है?

Ans : गौतम अडानी की कुल संपत्ति 91.5 बिलियन अमेरिकी डॉलर है।

Q : देश के सबसे अमीर व्यक्तियों में से इस समय कौन है?

Ans : गौतम अडानी इस समय देश के सबसे अमीर व्यक्तियों में से एक हैं।

Q : गौतम अडानी के कितन बच्चे है?

Ans : गौतम अडानी के दो बेटे हैं करण अडानी और जीत अडानी।

अन्य पढ़ें –



Source link

Share your feedback here