Life Style

कल शनिवार को शनि देव को प्रसन्न करने का बन रहा उत्तम संयोग, जया एकादशी पर ऐसे करें प्रसन्न

Loading...


Loading...

Shani Dev : ज्योतिष शास्त्र में शनि का एक विशेष ग्रह माना गया है. मान्यता है कि शनि देव की दृष्टि से मनुष्य ही नहीं देवता भी नहीं बच पाते हैं. इसलिए जीवन में शनि देव का आशीर्वाद महत्वपूर्ण हो जाता है. शनि देव जब अशुभ फल देने पर आते हैं तो व्यक्ति के जीवन में संकटों का अंबार लग जाता है. हर प्रकार से व्यक्ति बाधा और परेशानियों से घिर जाता है.

शनि देव करने जा रहे हैं नक्षत्र परिवर्तन
पंचांग के अनुसार 18 फरवरी 2022 को शनि नक्षत्र परिवर्तन करने जा रहे हैं. शनि अब धनिष्ठा नक्षत्र में प्रवेश करने जा रहे हैं. धनिष्ठा नक्षत्र में शनि देव 15 फरवरी 2023 तक रहेगें.

Loading...

जया एकादशी पर शनि देव की पूजा
12 फरवरी 2022 को पंचांग के अनुसार माघ शुक्ल की एकादशी तिथि है. इस एकादशी तिथि को जया एकादशी भी कहा जाता है. इस बार शनिवार के दिन एकादशी की तिथि पड़ने के कारण शनि देव की पूजा का उत्तम संयोग बना हुआ है. इन राशियों पर शनि की विशेष दृष्टि है.

5 राशियों पर शनि हैं भारी
ज्योतिष शास्त्र के अनुसार वर्तमान समय में 5 राशियों पर शनि की विशेष दृष्टि है. मिथुन राशि और तुला राशि पर शनि की ढैय्या और धनु राशि, मकर राशि और कुंभ राशि पर शनि की साढ़े साती चल रही है. इसलिए इन राशि वालों को विशेष सावधानी बरतने की जरुरत है. शनिवार के दिन शनि देव की पूजा करने और दान करने से विशेष राहत मिलेगी.

Loading...

शनिवार के दिन करें ये कार्य
जिन लोगों पर शनि की साढ़े साती और ढैय्या चल रही है उनके लिए शनिवार का दिन विशेष है. इस दिन शनि देव को सरसों का तेल चढ़ाएं और शनि देव से जुड़ी चीजों का दान करें. इससे साढ़े साती और ढैय्या के अशुभ प्रभाव कम होंगे. 

Disclaimer: यहां मुहैया सूचना सिर्फ मान्यताओं और जानकारियों पर आधारित है. यहां यह बताना जरूरी है कि ABPLive.com किसी भी तरह की मान्यता, जानकारी की पुष्टि नहीं करता है. किसी भी जानकारी या मान्यता को अमल में लाने से पहले संबंधित विशेषज्ञ से सलाह लें.

Loading...

Astrology : पढ़ाई-लिखाई में होती हैं हाशियार, जिन लड़कियों की होती है ये राशि, स्कूल, कालेज में होती हैं टीचर की चहेती

Vikram Betal : बैताल पचीसी की इस कहानी को सुनकर रह जाएंगे दंग, राजा के लिए कैसे एक सेवक ने अपने पत्नी और बच्चों समेत दे दी जान

Loading...



Source link

Loading...
Loading...

Share your feedback here