Make Money Online

पूरे साल रहती है इस प्रोडक्‍ट की मांग, शुरू करें इसका बिजनेस, 3 महीने में कमाएं 2 लाख रुपये

Loading...


Business idea : आजकल स्‍वरोजगार की ओर युवाओं का रुझान बढ़ता जा रहा है.कोरोना काल में बहुत से पढ़े-लिखे लोगों ने खेती को रोजगार के रूप में चुना है. आज खेती में भी कमाई (Earn money from farming) की बहुत संभावनाएं हैं. बहुत से लोग इसमें अच्‍छा पैसा कमा भी रहे हैं. अगर आप भी खेती के जरिए अच्छी कमाई (Earn Money) करना चाहते हैं तो आपको जीरा की खेती (Cumin farming) करनी चाहिए.

Loading...

जीरा एक ऐसी फसल है, जिसका प्रयोग मसालों में होता है. साथ ही इसके औषधीय गुणों के कारण इससे दवाइयां भी बनती हैं. इसलिए इसकी मांग पूरे साल बनी रहती है और इससे अच्‍छी कमाई होती है. अगर जीरा की खेती और इसकी मार्केटिंग सही तरीके से की जाए तो यह बिजनेस वारे-न्‍यारे कर सकता है.

ये भी पढ़ें :  PM Kisan Yojana: खुशखबरी! इस महीने किसानों के खाते में ट्रांसफर होंगे 11वीं किस्‍त के 2000 रुपये, करें चेक

Loading...

मौसम और मिट्टी

जीरे की खेती के लिये दोमट मिट्टी उपयुक्‍त है. इसकी बुआई सर्दी के मौसम में की जाती है. जीरा का पौधा ज्‍यादा गर्मी सहन नहीं कर सकता. जीरा की बुवाई के समय का तापमान 24 से 28 डिग्री सेंटीग्रेट तथा पौधों की वृद्धि के समय 20 से 22 डिग्री सेंटीग्रेट होना चाहिए.  बुवाई नवम्बर के तीसरे सप्ताह से दिसम्बर के पहले सप्ताह तक हो जाना चाहिए.

खेत की तैयारी

जीरा बुआई से पहले खेत में गहरी जुताई करनी चाहिये. इसके बाद रोटावेटर चलाकर मिट्टी को भुरभुरी बना लें. अगर रोटावेटर नहीं है तो दो-तीन जुताई करके सुहागा (पाटा) लगाकर जमीन समतल कर लेनी चाहिये. उपयुक्‍त नमी में जीरा की बुआई करनी चाहिये. बुआई के लिये उन्‍न्‍त किस्‍मों और बीजों का प्रयोग करें.

Loading...

बढि़या किस्‍मों का चुनाव

भारत में अलग-अलग राज्‍यों में भिन्‍न-भिन्‍न किस्‍में बोई जाती हैं. इसलिये आप अपने राज्‍य के कृषि विभाग या कृषि विश्‍वविद्वालय से किस्‍म चयन (Cumin variety) के लिये संपर्क कर सकते हैं. वैसे आरजेड 19 और 209, आरजेड 223 और जीसी 1-2-3 की किस्मों को अच्छा माना जाता है. इन किस्मों के बीज 120-125 दिन में पक जाते हैं. इन किस्मों की औसतन उपज प्रति हेक्टेयर 510 से 530 किलो ग्राम है.

बीज और दूरी

एक हेक्‍टेयर में 12 किलोग्राम बीज (Cumin seed) पर्याप्‍त होता है. इसका अर्थ है कि एक एकड़ में पांच किलोग्राम बीज आपको बोना है. ध्‍यान रहे कि बीज को 1 से 1.5 सेमी. की गहराई से ज्‍यादा न बोयें. इससे ज्यादा की गहराई पर बोने से बीज की अंकुरण कम होता है. बुआई हमेशा लाइनों में करें. बीज का छिड़काव करके बुआई न करें. इससे खरपतवार निकालने में बहुत दिक्‍कत होती है. लाइन से लाइन की दूरी 25 सेंटीमीटर रखें.

Loading...

ये भी पढ़ें : अब कैब कंपनियां पीक ऑवर्स में नहीं वसूल पाएंगी मनमाना किराया, अब मानने होंगे कई नियम

कितनी होगी कमाई?

अब बात करें उपज और इससे कमाई की तो जीरे की औसत उपज 7-8 क्विंटल बीज प्रति हेक्टयर हो जाती है. जीरे की खेती में करीब 30,000 रुपये प्रति हेक्टयर खर्च आता है. अगर जीरे की कीमत 100 रुपये प्रति किलो भाव मान कर चलें तो प्रति हेक्‍टेयर कमाई 80000 रुपये होती है. इस तरह 50000 रुपये शुद्ध लाभ प्रति हेक्‍टेयर होता है. ऐसे में अगर 4 हेक्‍टेयर में भी जीरा की खेती की जाये तो करीब 3 महीने में 200000 रुपये की बचत हो सकती है.

Loading...

Tags: Business ideas, Earn money, Farming

Loading...



Source link

Loading...
Loading...

Share your feedback here