Make Money Online

सीमेंट ग्रिल निर्माण बिजनेस कैसे शुरू करें। Cement Grill Manufacturing Business.


Cement Grill की यदि हम बात करें तो कंस्ट्रक्शन निर्माण में वर्तमान में ये अपनी अहम् भूमिका एवं महत्वपूर्ण स्थान बना चुके हैं । कहने का अभिप्राय यह है की वर्तमान में भवन निर्माण में सीमेंट ग्रिल अहम् भूमिका निभा रही हैं । इन ग्रिल की यदि हम बात करें तो इनकी मोटाई 2.5 से. मी. से कम नहीं होती है और इनका निर्माण सीमेंट से किया जाता है और इन पैनल पर बीच बीच में हवा एवं रौशनी के आवागमन के लिए छेद किये हुए होते हैं। Cement Grill का इस्तेमाल घरों एवं भवनों के निर्माण में दीवारों एवं वेंटीलेटर में विभाजन पैनल के तौर पर किया जा सकता है।

चूँकि इन ग्रिल में रौशनी एवं वेंटिलेशन के लिए बीच में छेद किये होते हैं इसलिए घरों एवं भवनों के निर्माण में इनका इस्तेमाल खिड़कियों एवं रोशनदानों के एक विकल्प के तौर पर किया जाता है। इन ग्रिल का इस्तेमाल करने से प्रकाश एवं हवा का आवागमन तो कमरों में होता है लेकिन यह बारीश को अन्दर आने से रोकता है।

इस तरह के इन ग्रिल को चोरों एवं जानवरों का भी खतरा नहीं होता है। Cement Grill को ग्राहकों की पसंदानुसार विभिन्न डिजाईन एवं आकृतियों में बनाया जाता है। और ग्राहकों को इनके इस्तेमाल का फायदा यह होता है की उन्हें ये ग्रिल लकड़ी या स्टील से निर्मित जाली से सस्ते में मिल जाती हैं। इसलिए सीमेंट ग्रिल का इस्तेमाल घरों एवं भवन निर्माण में धीरे धीरे बढ़ रहा है। इसलिए कमाई के लिहाज से यह व्यवसाय भी एक लाभकारी व्यवसाय हो सकता है।

विषय लिस्ट

सीमेंट ग्रिल बनाने का व्यवसाय क्या है (What is Cement Grill Manufacturing) 

Cement Grill को सीमेंट से निर्मित जाली भी कह सकते हैं जिनका इस्तेमाल घरों एवं भवनों में रौशनी एवं हवा का आवागमन बना रहे इसलिए खिड़की या रोशनदान की जगह किया जा सकता है। यह सीमेंट से निर्मित होती हैं इसलिए इनकी मोटाई कम से कम 2.5 से. मी. तो होती ही होती है। और सीमेंट से निर्मित होने के कारण ये काफी मजबूत होती हैं इसलिए चोर एवं जानवर भी इसका कुछ नहीं बिगाड़ सकते। आज जब स्वास्थ्य समस्याएं बहुत अधिक हो गई हैं ऐसे में लोगों को स्वास्थ्य विशेषज्ञों द्वारा हवादार एवं रौशनी से भरपूर कमरों में रहने की सलाह दी जाती है।

और ग्राहकों को लकड़ी एवं स्टील की जाली के मुकाबले सीमेंट की जाली काफी सस्ती पड़ती हैं यही कारण है की इनका इस्तेमाल घरों एवं भवन निर्माण में धीरे धीरे बढ़ रहा है। इन्हीं सब आवश्यकताओं को ध्यान में रखकर जब किसी व्यक्ति द्वारा व्यवसायिक तौर पर यह काम किया जाता है तो उसके द्वारा किया जाने वाला यह काम ही Cement Grill Manufacturing Business कहलाता है।

सीमेंट ग्रिल की बिक्री संभाव्यता

जैसा की हम पहले भी बता चुके हैं की Cement Grill का उपयोग घरों एवं भवनों के निर्माण से जुड़ा हुआ है इसलिए जैसे जैसे देश में भवन निर्माण गतिविधि में तेजी आ रही है वैसे वैसे ही सीमेंट ग्रिल के इस्तेमाल में भी तेजी देखी गई है। लकड़ी, स्टील एवं बाजार में उपलब्ध अन्य जालियों की तुलना में इनका सस्ता होना, मजबूत होना एवं विभिन्न आकार एवं आकृतियों में उपलब्ध होने के कारण ग्राहकों द्वारा इन्हें खासा पसंद किया जाने लगा है।

यही कारण है की भारत के कुछ राज्य ऐसे भी हैं जहाँ इनका उत्पादन मांग की तुलना में काफी कम है इन राज्यों में एक राज्य बिहार है जहाँ Cement Grill की खपत एक वर्ष में लगभग एक करोड़ वर्ग फुट है जबकि इस माँग की पूर्ति के लिए राज्य में केवल 50-60 इकाइयाँ संचालित हैं जो इतनी बड़ी मांग को पूर्ण करने में अक्षम हैं।

इसी कारणवश इस राज्य में मांग एवं आपूर्ति के अंतर को उत्तर प्रदेश, पश्चिम बंगाल और झारखंड जैसे अन्य निकटवर्ती राज्यों के द्वारा उत्पादित सीमेंट ग्रिल को परिवहन करके पूर्ण किया जाता है। इसलिए स्थानीय मांग को ध्यान में रखते हुए कुटीर एवं छोटे स्तर पर इस तरह का यह व्यवसाय शुरू करने के अवसर विद्यमान हैं ।

सीमेंट ग्रिल निर्माण बिजनेस कैसे शुरू करें (How to Start Cement Grill Manufacturing Business)

वैसे देखा जाय तो Cement Grill Manufacturing के लिए किसी प्रकार की हैवी मशीनरी की आवश्यकता नहीं होती है। और चूँकि इनका निर्माण करने में प्रमुख कच्चे के माल के तौर पर सीमेंट, बालू इत्यादि को ही इस्तेमाल में लाया जाता है इसलिए कच्चे माल की उपलब्धता भी हर जगह आसानी से हो सकती है।

लेकिन चूँकि उद्यमी को शुरूआती दौर में स्थानीय मांग को ध्यान में रखते हुए ही इस व्यवसाय का संचालन करने की आवश्यकता होती है। इसलिए उद्यमी को स्थानीय स्तर पर रिसर्च करने की आवश्यकता तो होगी ही। तो आइये जानते हैं की कैसे कोई इच्छुक व्यक्ति खुद का सीमेंट ग्रिल निर्माण बिजनेस शुरू कर सकता है।

1. स्थानीय रिसर्च करें

Cement Grill की कुटीर एवं छोटी इकाइयाँ स्थानीय मांग को ध्यान में रखकर ही स्थापित की जा सकती हैं। वह इसलिए क्योंकि शुरूआती दौर में उद्यमी के पास उत्पाद को दूर तक परिवहन करने के लिए बजट नहीं होता और वह प्रतिस्पर्धा मूल्य को भी प्रदर्शित करने में असमर्थ होता है। इसलिए उद्यमी के लिए बेहतर यही है की वह इस तरह का यह व्यवसाय शुरू करने से पहले स्थानीय स्तर पर जहाँ तक वह अपने उत्पाद को बेचने की योजना बना रहा हो वहां पर इसकी मांग का आकलन करे।

पता लगाये की वहां पर निवासित लोगों को अपने भवनों एवं घरों के निर्माण में सीमेंट की जालियां कितनी पसंद हैं। यह जानकारी लेने के लिए उद्यमी उस एरिया में कार्यरत भवन निर्माण का ठेका लेने वाले, कांट्रेक्टर, प्रॉपर्टी डीलर या फिर अन्य स्थानीय रियल एस्टेट कंपनी में कार्यरत किसी कर्मचारी या अधिकारी से इसकी जानकारी ले सकता है। इसके अलावा उस एरिया विशेष में उपलब्ध इस क्षेत्र से जुड़ी प्रतिस्पर्धा का आकलन भी अवश्य करें।      

2. जगह का प्रबंध करें

Cement Grill Manufacturing बिजनेस शुरू करने के लिए यदि जगह की हम बात करें तो इसके लिए उद्यमी को 800-1200 स्क्वायर फीट जगह की आवश्यकता हो सकती है। क्योंकि इसकी इकाई स्थापित करने के लिए इन्वेंटरी के लिए जगह, कार्यशाला बनाने के लिए जगह, मैन्युफैक्चरिंग प्रोसेस के लिए स्थान, बिजली आपूर्ति उपयोगताओं एवं जनरेटर सेटअप के लिए भी स्थान की आवश्यकता होती है।

इसके अलावा एक छोटा सा कार्यालय भी उद्यमी को स्थापित करने की आवश्यकता होती है इसलिए इन सभी के लिए 800-1200 स्क्वायर फीट जगह की आवश्यकता अनुमानित है। उद्यमी चाहे तो किसी बनी बनाई बिल्डिंग को किराये पर ले सकता है बशर्ते वहां पर बिजली, पानी, सड़क इत्यादि की अच्छी व्यवस्था हो।     

3. लाइसेंस एवं रजिस्ट्रेशन कराएँ

हालांकि Cement Grill बनाने के व्यवसाय के लिए किसी प्रकार के लाइसेंस की अनिवार्यता है या नहीं इसकी पुष्टि तो नहीं की जा सकती । लेकिन इतना तय है की सीमेंट ग्रिल का इस्तेमाल भवन एवं घरों के निर्माण में होता है इसलिए इनकी गुणवत्ता से किसी प्रकार का कोई समझौता नहीं होना चाहिए। इसके लिए हो सकता है की सरकार द्वारा BIS Specification निर्धारित हों, इसलिए उद्यमी द्वारा इनका निर्माण उन्हीं मानकों के अनुरूप होना अत्यंत आवश्यक है।

वैसे उद्यमी चाहे तो अपने व्यवसाय को प्रोप्राइटरशिप के तहत रजिस्टर करके और टैक्स रजिस्ट्रेशन एवं स्थानीय प्राधिकरण से ट्रेड लाइसेंस लेकर भी यह व्यवसाय शुरू कर सकता है। और सरकारी योजनाओं का फायदा लेने के लिए अपने व्यवसाय को उद्योग आधार एवं एमएसएमई डाटा बैंक में भी रजिस्टर करा सकता है।   

4. मशीनरी उपकरण एवं कच्चा माल खरीदें

जैसा की हम पहले भी बता चुके हैं की Cement Grill Manufacturing करने के लिए कोई हैवी या बहुत अधिक कीमती मशीन की आवश्यकता तो नहीं होती है। लेकिन इस कार्य को करने के लिए एक नहीं बल्कि अनेकों मशीनरी एवं उपकरणों की आवश्यकता हो सकती है जिनकी लिस्ट कुछ इस प्रकार से है।

  • विभिन्न लोहे के मोल्ड या फ्रेम
  • लकड़ी के तख्ते
  • हाथ से चालित कंक्रीट मिक्सर
  • मोटर और स्टार्टर के साथ वाइब्रेटर
  • करिंग टैंक
  • प्रदूषण नियंत्रण उपकरण
  • अन्य टूल एवं उपकरण  

मशीनरी एवं उपकरण खरीदने से पहले उद्यमी को इनकी बाजार में कीमतें पता करनी चाहिए और उसके बाद विभिन्न सप्लायर से कोटेशन मंगाकर उनका तुलनात्मक आकलन करने के बाद ही किसी मशीनरी सप्लायर का चुनाव करना चाहिए।

कच्चे माल की खरीदारी के लिए भी उद्यमी यही प्रक्रिया अपना सकता है Cement Grill Manufacturing में प्रमुख तौर पर इस्तेमाल में लाये जाने वाले कच्चे माल की लिस्ट निम्नलिखित है।

  • पोर्टलैंड सीमेंट
  • बजरी/रेता
  • माइल्ड स्टील रॉड एवं तार
  • अन्य सामग्री   

5. आवश्यक कर्मचारी नियुक्त करें

उपर्युक्त मशीनरी और उपकरणों के माध्यम से Cement Grill का निर्माण करने के लिए दक्ष और कुशल मशीन ऑपरेटर की आवश्यकता हो सकती है। और सीमेंट जाली का मानकों के अनुरूप उत्पादन करने के लिए अनुभवी इंजिनियर की भी आवश्यकता हो सकती है। इनके अलावा उद्यमी को कुछ सहायक कर्मचारी जो एक कार्य स्टेशन से दुसरे कार्य स्टेशन तक सामग्री पहुँचाने का काम करेंगे उन्हें भी नियुक्त करने की आवश्यकता होती है।

डॉक्यूमेंटेशन इत्यादि कार्यों के लिए कार्यालय कर्मचारियों की भी आवश्यकता होगी। सीमेंट ग्रिल निर्माण इकाई में 1 सुपरवाइज़र, 1 प्लांट ऑपरेटर, 1 अकुशल कर्मचारी, 1 हेल्पर और 1 सुरक्षा गार्ड इत्यादि को मिलाकर उद्यमी को कुल 7-8 कर्मचारी नियुक्त करने की आवश्यकता हो सकती है।     

6. सीमेंट ग्रिल का निर्माण शुरू करें

Cement Grill Manufacturing की यदि हम बात करें तो अभी तक इसमें कोई एडवांस्ड तकनीक इनके उत्पादन के लिए नहीं अपनाई जाती है। हाँ लेकिन इनके डिजाईन एवं इनकों विभिन्न आकार देने के लिए तकनीक अवश्य विकसित हुई है चूँकि इनका इस्तेमाल बहुमंजिला इमारतों में वेंटिलेशन और विभाजन पैनल के तौर पर किया जाता है इसलिए इनका उच्च गुणवत्तायुक्त होना अति आवश्यक है। वैसे तकनिकी दृष्टिकोण से देखें तो सीमेंट की ग्रिल बनाने की प्रकिया बेहद सरल होती है वह इसलिए भी क्योंकि इसके निर्माण में किसी भी प्रकार की हैवी मशीन का इस्तेमाल नहीं किया जाता है।

इसके निर्माण के लिए हाथ से चालित कंक्रीट मिक्सर और लोहे या लकड़ी के विभिन्न सांचों या मोल्ड की आवश्यकता होती है। सांचों को मिटटी के तेल के साथ चिकना किया जाता है ताकि इनमें सीमेंट इत्यादि चिपके नहीं और इस तरह से ये मौल्डिंग के लिए तैयार किये जाते हैं।

उसके बाद Cement Grill Manufacturing Process में 1:3 के अनुपात में सीमेंट एवं रेता कंक्रीट मिक्सर में डाला जाता है और पानी के साथ इसका मिश्रण तैयार किया जाता है। और इस प्रक्रिया में साँचों यानिकी मोल्ड को इस मिश्रण से भर दिया जाता है लेकिन इस मिश्रण को भरने से पहले मोल्ड में उपयुक्त गहराई पर माइल्ड स्टील रॉड या छड़ फिट की जाती है ताकि सीमेंट ग्रिल में मजबूती आ सके।

मोल्ड के ऊपर लगे या फैले अतिरिक्त मिश्रण को हटा दिया जाता है और इस सतह को ट्रॉवेल की मदद से चिकना कर दिया जाता है। उसके बाद Cement Grill बनाने की इस प्रक्रिया में मिक्सर को लगभग चौबीस घंटों तक रखने की आवश्यकता हो सकती है और फिर इन्हें सांचों से निकाल दिया जाता है । उसके बाद इन्हें और अधिक मजबूत बनाने के लिए 14-15 दिनों तक पानी में डुबोने की आवश्यकता हो सकती है।

यह भी पढ़ें  

वाल पुट्टी बनाने का बिजनेस कैसे शुरू करें?

टाइल्स और मार्बल का बिजनेस कैसे शुरू करें.

खुद का सीमेंट स्टोर कैसे शुरू करें.



Source link

Share your feedback here