Health

सर्दी के मौसम में गाजर करती है संजीवनी का काम, ऐसे खाने पर मिलेगा लाभ

Loading...


Loading...

Health News: सर्दी का मौसम आते ही घरों में बनने वाले खाने में डिश भी बदल जाती है. मौसम के साथ-साथ बाजार में कई प्रकार की नई सब्जियां एंट्री लेती हैं. इसमें गाजर भी शामिल है. सर्दी में गाजर का हलवा घर-घर में बनाया जाता है. इसके अलावा गाजर को सब्जी बनाकर या फिर सलाद में खा सकते हैं. बता दें कि गाजर में कई प्रकार के पौष्टिक गुण छिपे हुए हैं.

Covid-19: Omicron Variant के मरीज को सांस लेने में हो रही है दिक्कत? बरतें ये सावधानियां तो नहीं होगी कोई परेशानी

Loading...

स्वास्थ्य विशेषज्ञों के अनुसार गाजर कई पोषक तत्वों से भरपूर आहार है. इसका वैज्ञानिक नाम डॉकस कैरोटा है. गाजर में विटामिन ए, सी, के, पोटेशियम, आयरन, कॉपर और मैग्नीज जैसे कई तत्व पाए जाते हैं. इसे मूल रूप से  यूरोप और दक्षिण पश्चिम एशिया में उगाई जाने वाली सब्जी कहा जाता है लेकिन अब यह विश्वभर में उगाई जाती है. 

मिलते हैं ये फायदे

Loading...

रोजाना गाजर खाने से आपका दिल सेहतमंद बना रहता है और इसमें पाए जाने वाले बीटा-कैरोटीन, अल्‍फा-कैरोटीन और लुटेइन जैसे एंटीऑक्‍सीडेंट कोलेस्ट्रोल लेवल को कंट्रोल रखता है. गाजर खाने से आपकी इम्यूनिटी भी मजबूत होगी. इतना ही नहीं नियमित रूप से गाजर खाने से आपकी आंखों की रोशनी भी तेज होगी.

Covid-19: कोरोना काल में खांसी से छुटकारा पाने के लिए अपनाएं ये टिप्स, नहीं होगी परेशानी

Loading...

रोजाना गाजर खाने से आपके चहरे पर मुंहासे की समस्या नहीं होगी और आपको स्किन से संबंधित कोई समस्या नहीं होगी. गाजर की मदद से आप वजन भी कम कर सकते हैं. रोजाना गाजर के इस्तेमाल से मेटाबॉलिज्म में भी सुधार होता है. इससे मोटापा कम होगा. वहीं अगर मसूड़ों से ब्लड़ आने की समस्या है तो गाजर खाना शुरू कर दें, जिससे आपको लाभ मिलेगा और आपके दांत भी सफेद दिखने लगेंगे.

Disclaimer: इस आर्टिकल में बताई विधि, तरीक़ों व दावों की एबीपी न्यूज़ पुष्टि नहीं करता है. इनको केवल सुझाव के रूप में लें. इस तरह के किसी भी उपचार/दवा/डाइट पर अमल करने से पहले डॉक्टर की सलाह जरूर लें.

Loading...

Check out below Health Tools-
Calculate Your Body Mass Index ( BMI )

Calculate The Age Through Age Calculator



Source link

Loading...

Loading...
Loading...

Share your feedback here